15 Comments

T-28/7 जब यक़ीं दरमियां से उठता है-सीमा शर्मा मेरठी

हज़रते मीर तक़ी मीर साहेब की वो ग़ज़ल जिसको तरही किया गया

देख तो दिल कि जाँ से उठता है
ये धुआं सा कहाँ से उठता है

गोर किस दिल-जले की है ये फ़लक
शोला इक सुब्ह याँ से उठता है

खाना-ऐ-दिल से ज़िन्हार न जा
कोई ऐसे मकाँ से उठता है

नाला सर खेंचता है जब मेरा
शोर एक आसमाँ से उठता है

लड़ती है उस की चश्मे-शोख़ जहाँ
एक आशोब वां से उठता है

सुध ले घर की भी शोला-ऐ-आवाज़
दूद कुछ आशियाँ से उठता है

बैठने कौन दे है फिर उस को
जो तेरे आस्ताँ से उठता है

यूं उठे आह उस गली से हम
जैसे कोई जहाँ से उठता है

इश्क़ इक ‘मीर’ भारी पत्थर है
बोझ कब नातावां से उठता है

——————————————

सीमा शर्मा मेरठी साहिबा की तरही ग़ज़ल

जब यक़ीं दरमियां से उठता है
प्यार दोनों जहां से उठता है

दश्त में आग तो लगी ही नहीं
“ये धुआं सा कहां से उठता है।”

नींद ख़ामोशी सुनती है शब भर
शोर दिल के मकां से उठता है

बैठ जाती है धूप सर चढ़के
जब कोई सायबां से उठता है

शोर वो कान खोल दे सबके
जो क़लम की ज़बां से उठता है

पैरहन जलती है नकदखां की
आदमी जब जहां से उठता है

आख़री सीन पे पहुंचकर ही
पर्दा हर दास्तां से उठता है

रोती है कायनात “सीमा” उसे
जब फ़रिश्ता जहां से उठता है

सीमा शर्मा मेरठी 08171838659

Advertisements

About Lafz Admin

Lafzgroup.com

15 comments on “T-28/7 जब यक़ीं दरमियां से उठता है-सीमा शर्मा मेरठी

  1. बहुत अच्छी ग़ज़ल सीमा जी..मुबारक.

  2. naqadkhaN ?
    kuchh tafseel pleez
    aap ki ghazal behtareen ghazal hai…
    kabhi itna lutf andoz nahiN huwa
    wahhhh

  3. umda ghazal!! waaaaaaaah!!!

  4. नींद ख़ामोशी सुनती है शब भर
    शोर दिल के मकां से उठता है

    बहुत अच्छी ग़ज़ल सीमा जी..मुबारक.

  5. Seema saheba, khoobsoorat ghazal k liye mubarakbad

  6. Achchhi ghazal hai

  7. Umda gazal
    girah b khoob
    Mubarak
    Saify Raipur

  8. शोर वो कान खोल दे सबके
    जो क़लम की ज़बां से उठता है
    बहुत ख़ूब सीमाजी.

  9. BAHUT achi gazal hui seema ji
    Dili daad qubul kijiye

    • शुक्रिया इमरान साहेब बहुत बहुत शुक्रिया

  10. Achchhi Ghazal hui hai Seema sahiba mubaarakbaad qabool karen

  11. Achchhi Ghazal hui hai seems sahiba BADHAAYI

    • शुक्रिया शाफिकु साहेब तहे दिल से शुक्रिया

Your Opinion is counted, please express yourself about this post. If not a registered member, only type your name in the space provided below comment box - do not type ur email id or web address.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: