2 टिप्पणियाँ

T-25 तरही मिसरा:- मैं उसके साथ-साथ दुआ में लगा रहा

साहिबो इस बार ज़रा अड़ाव का मिसरा रखते हैं। क़दरन सख़्त होने से ज़ह्न पर मज़ीद ज़ोर देना पड़ेगा और ज़ियादा मज़ा आयेगा। हमेशा की तरह ग़ज़ल पोस्टिंग 11 अगस्त से से शुरू करेंगे। तब तक और हंगामे होते रहेंगे। समापन हमेशा की तरह महीने की अंतिम तारीख़ यानी इस बार 31 अगस्त को किया जायेगा

मिसरा तरह :- मैं उसके साथ-साथ दुआ में लगा रहा
तक़तीअ :- मफ़ऊल फ़ाइलात मफ़ाईल फ़ाइलुन 1 1 2 1 -2 1 2 1- 12 2 1- 2 1 2
क़ाफ़िये :- सदा, हिना, निदा, सज़ा, हवा, अना, सौतो-सदा, ख़ुदा, वफ़ा, बन्दे-क़बा, दस्ते,हिना, हर्फ़े-सदा.

Advertisements

About Lafz Admin

Lafzgroup.com

2 comments on “T-25 तरही मिसरा:- मैं उसके साथ-साथ दुआ में लगा रहा

  1. Dada, apka misra khoob hai. Eik baat wazahat talab hai ki apne RADEEF nahin kholi hai.. ismen agar koi RAHA radeef leta hai tab bhi ghazal theek hai aur agar ‘MEN LAGA RAHA’ leta hai tab bhi theek hai..apni rai se nawazen.WAISE IS MARHALE PAR DONON HI ANDAAZ MEN IJAAZAT HONI CHAHIYE.

    KUCHH YUN GHAME HAYAT KA SAYA GHANA RAHA
    APNI KHABAR RAHI NA TUMHARA PATA RAHA,

Your Opinion is counted, please express yourself about this post. If not a registered member, only type your name in the space provided below comment box - do not type ur email id or web address.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: