5 टिप्पणियाँ

T-23/29 अब जैसे भी हुई हो भलाई हुई तो है-नवीन सी. चतुर्वेदी

अब जैसे भी हुई हो भलाई हुई तो है
नाकामियों ने राह दिखाई हुई तो है

मौक़ा नहीं मिला है ये किस तर्ह बोल दें
बन्जर ज़मीन हिस्से में आई हुई तो है

इस बार बात बनने के इमकान1 हैं बहुत
ग़म के सिवा ख़लिश भी सवाई हुई तो है

यूँ ही तुम्हारे शेरों का चरबा2 नहीं हुआ
तुम ने ग़ज़ल किसी को सुनाई हुई तो है

दाबे नहीं दबे है दरप3 इस मकान का
होने को कुल बदन की तराई हुई तो है

देखें घड़ी लगन की निकलती है किस घड़ी
परमातमा के संग सगाई हुई तो है

आख़िर दरस दिखाने में इतना गुरेज़ क्यों
धूनी हम आइनों ने रमाई हुई तो है

उन की ग़रज़ नहीं तो हमारी ग़रज़ सही
उन के हुज़ूर अपनी रसाई4 हुई तो है

वादाख़िलाफ़ कैसे हुए हम बताइये
अश्कों ने पाई-पाई चुकाई हुई तो है

देखें इबादतों के चमन बख़्शते हैं क्या
वहदानियत5 की पौध लगाई हुई तो है

ये और बात है कि सुनाई नहीं पड़ी
ब्रज की गजल ने टेर लगाई हुई तो है

अब और कितने वृक्ष कटाओगे ऐ ‘नवीन’
तुम ने जगत की कूत6 कुताई7 हुई तो है

****

1 सम्भावनाएँ 2 नकल 3 गरमी, दर्प, अहंकार 4 पहुँच 5 अद्वैतवाद, एकोहम् द्वितीयो नास्ति, हर धर्म-ग्रन्थ के ईश्वर का बयान 6 मूल्यांकन 7 (मूल्यांकन) करना

नवीन सी. चतुर्वेदी 09967024593

Advertisements

About Lafz Admin

Lafzgroup.com

5 comments on “T-23/29 अब जैसे भी हुई हो भलाई हुई तो है-नवीन सी. चतुर्वेदी

  1. वाह नवीन जी

    अद्वितीय ग़ज़ल
    कमाल है साहब
    बहुत खूब!!

  2. बहुत ख़ूब नवीन जी
    महफ़िल ग़ज़ल की रंग पे आई हुई तो है .

  3. इस बार बात बनने के इमकान1 हैं बहुत
    ग़म के सिवा ख़लिश भी सवाई हुई तो है

    दाबे नहीं दबे है दरप3 इस मकान का
    होने को कुल बदन की तराई हुई तो है

    देखें इबादतों के चमन बख़्शते हैं क्या
    वहदानियत5 की पौध लगाई हुई तो है

    Bemisal Kafiya bandi hai Naveen Bhai…Is ustadana tewar wali ghazal ki jitni tareef ki jaay kam hogi…Jiyo.

  4. नवीन भाई अत्यंत नवीन।क्या क्या क़ाफ़िए बाँधे हैं आपने
    वाह वाह बहुत बहुत बधाई।

  5. दादा प्रणाम। तरही में स्थान देने के लिये आभारी हूँ।

Your Opinion is counted, please express yourself about this post. If not a registered member, only type your name in the space provided below comment box - do not type ur email id or web address.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: