13 टिप्पणियाँ

T-23/7 दिल में किसी की याद समाई हुई तो है-शरीफ़ अंसारी

दिल में किसी की याद समाई हुई तो है
आँखों में रुत बहार की आई हुई तो है

यादे-हबीब इसमें समाई हुई तो है
‘ये ज़ख़्मे-दिल है इसकी दवाई हुई तो है’

ये देखना है कब वो निगाहे-करम करें
फ़रियाद उनके दर पे लगाई हुई तो है

लपटों में जिसकी जिस्मो-दिलो-जां जिगर जलें
सीने में ऐसी आग लगाई हुई तो है

पैगामे-वस्ले-यार के आते ही देखिये
दुनिया के रंजो-ग़म से रिहाई हुई तो है

वो जिसने आसमां को सितारों से भर दिया
ये बज़्म भी उसी की सजाई हुई तो है

घर में जो थी किसी की अमानत चली गयी
कहने को मेरी जान पराई हुई तो है

अच्छी नहीं, नहीं न सही, ये ग़ज़ल मगर
बहरे-सुख़न में डूब के आई हुई तो है

ताज़ा ग़ज़ल भी सुन के ये कहते हैं लोग-बाग
लगता है ये किसी की सुनाई हुई तो है

ऐ लफ़्ज़ तेरे रब्तो-तअल्लुक़ से आज कल
उर्दू ग़ज़ल में जान सी आई हुई तो है

जलता नहीं है शह्र मिरा बेसबब ‘शरीफ़’
ये आग भी किसी की लगाई हुई तो है

मेरा ख़मीर जिस जगह मदफ़ून है ‘शरीफ़’
ये साँस भी वहीँ से चुराई हुई तो है

शरीफ़ अंसारी 09827965460

Advertisements

About Lafz Admin

Lafzgroup.com

13 comments on “T-23/7 दिल में किसी की याद समाई हुई तो है-शरीफ़ अंसारी

  1. अच्छी नहीं, नहीं न सही, ये ग़ज़ल मगर
    बहरे-सुख़न में डूब के आई हुई तो है

    Kya baat hai.
    Khoob.
    Badhaai.

  2. घर में जो थी किसी की अमानत चली गयी
    कहने को मेरी जान पराई हुई तो है

    Waah…ander tak chhoo gaya aapka sher…waah

  3. शानदार ग़ज़ल के लिए मुबारकबाद।
    वाह…वा…।
    सादर
    नवनीत

  4. अच्छे अश’आर हुए हैं शरीफ़ साहब। दाद कुबूल करें

  5. waah,,,,zu matla wa zu maqta ghazal..kAmyaab hai,,,,,umda ashaar ,,,,daad oubool farmayen

  6. Ansari Sahab. Ek achhi Gazal ke liye Mubarakbad Qabul karen …
    yeh sher bahot pasand aaya ..

    ये देखना है कब वो निगाहे-करम करें
    फ़रियाद उनके दर पे लगाई हुई तो है

  7. UMDA GHAZAL KE LIYE MUBAARAKBAAD PESH KARTA HU’N, SHAREEF SAHAB, QABOOL FARMAAYE’N.

  8. बहुत शानदार ग़ज़ल हुई है साहिब।
    क्या बात है।
    बहुत बहुत बधाई।

  9. वो जिसने आसमां को….
    ताज़ा ग़ज़ल……
    वाह शरीफ़ साहब उम्दा ग़ज़ल कही है आपने।
    दिली दाद क़ुबूल करें…
    सादर
    पूजा

Your Opinion is counted, please express yourself about this post. If not a registered member, only type your name in the space provided below comment box - do not type ur email id or web address.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: