16 Comments

T-22/43 जीत का मैंने हुनर जाना है-नकुल गौतम

जीत का मैंने हुनर जाना है
हार उम्मीद का मर जाना है

आज़मा ले ये ज़माना मुझको
“आज हर हद से गुज़र जाना है”

रूह-दानी का मुक़द्दर तय है
टूट जाना है बिखर जाना है

आख़िरी ठौर चिता ही होगी
जाइये आप जिधर जाना है

दर्द सहने की हुई है आदत
चुटकुला सुन के बिफर जाना है

वक़्त के साथ बदल कर देखो
वक़्त को ख़ुद ही सुधर जाना है

मैं तबीबों का सताया हुआ हूँ
अब दवा दोगे तो मर जाना है

इक घडीसाज़ कहा करता था
वक़्त इक दिन ये ठहर जाना है

ख़ामख़ा ज़िद पे अड़े रहते हो
लौट आऊंगा मगर जाना है

मेरी तन्हाई बिलखती होगी
ये बहाना कई कि घर जाना है

इसमें काँटों को सजा कर देखो
बाग़ दिल का ये संवर जाना है

नकुल गौतम 09819057645

Advertisements

About Lafz Admin

Lafzgroup.com

16 comments on “T-22/43 जीत का मैंने हुनर जाना है-नकुल गौतम

  1. wah ..achhi ghazal hui hai Nakul ji..daad
    -Kanha

  2. Nakul Behtareen Ghazal ke liye dheron daad kabool karen

  3. नकुल भाई।
    भरपूर ग़ज़ल के लिए भरपूर दाद कबूल करें।
    क्‍या ही उम्‍दा अश्‍आर हैं।
    एकाध शे’र क्‍या बताऊं।
    तमाम ग़ज़ल बहुत खूबसूरत।
    वाह..वाह..वाह।
    सादर
    नवनीत

  4. Bahut umda gazal hui nakul sahab
    DIli daad kubul kijiye

  5. Nakul Gautam ji badhiya ghazal hui hai.. aur roohdani ka istemaal maine pehli baar dekha hai jo behad khoobsurti se kiya hai aapne.. daad hazir hai!!

  6. इक घडीसाज़ कहा करता था
    वक़्त इक दिन ये ठहर जाना है……….वाह भाई क्या बात है

  7. आदरणीय तुफैल जी
    मुझे तरही में स्थान देने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया |

    Nakul

  8. nakul sahab bharpoor ghazal hui hai.. aur raah-daani ka to jawaab nahi… daad qubulen

  9. नकुल जी…वाह…… बेहद उम्दा अशआर पिरोये हैं आपने अपनी ग़ज़ल में। ढेरों ढेर दाद क़ुबूल करें।
    सादर
    पूजा

Your Opinion is counted, please express yourself about this post. If not a registered member, only type your name in the space provided below comment box - do not type ur email id or web address.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: