8 Comments

T-20/1-तुफ़ैल चतुर्वेदी

साहिबो मिसरा तरह पोस्ट करते ही एक कृपालु मित्र का फ़ोन आया। उन्होंने शिकायत की कि आप ऐसा मिसरा रखते हैं जिसकी रदीफ़ झूल जाती है। ख़ाकसार ये सुन कर भौंचक्का रह गया। ये तो तक़रीबन 36-37 साल के सफ़र को रायगाँ करने की सी बात हुई। उन्होंने ये भी पूछा झंकार कैसे सम्हाली जायेगी ? मुझे फ़ौरन गिरह लगाना पड़ी। अगर आपके भी ज़ह्न में उलझन हो तो बराहे-करम इस मिसरे को दर्ज कर लीजिये। अब मजबूरी में मुझे भी ग़ज़ल कहनी पड़ेगी। इस बहाने मेरा नया मोबाइल नंबर भी पुराने की जगह सुरक्षित कर लीजिये।

अब ग़ज़ल चांद-सितारों से परे जा निकली
आप ज़ंजीर की झंकार सम्हाले हुए हैं ?

तुफ़ैल चतुर्वेदी                                        9711296239

Advertisements

8 comments on “T-20/1-तुफ़ैल चतुर्वेदी

  1. bahut khoob..jnb…
    girah khoob rahi…
    lamha e fikriya ye hai ki..
    “zanjeer ki jhankaar” ki tashbeeh se baat bahut aage ki ho jaati hai…aur “PAYAL KI HI JHANKAAR” se mukhtalif bhi…

  2. शानदार गिरह। इससे बेहतर शुरुआत क्या हो सकती है। दाद कुबूल हो।

  3. Dada Isase achhi girah shayad hi mumkin ho
    Kitni aasani se itni khoobsoorat girah lagayi aapne

    Zabardast

    Sadar pranam

    Alok

  4. kya badhiya girah hai dada..Waah
    sadar pranam
    -kanha

  5. Kamaal ki girah…Log aapko aese hi Ustaad nahin kehte…waah…Jiyo.

  6. ग़ज़ल के नए कलेवर और बदलाव के मद्देनज़र आपका ये अकेला शेर तफ़्सीली टिप्पणियों पर भरी है.
    प्रणाम आपकी सोच को और इस अभिव्यक्ति को !!!!

  7. अब ग़ज़ल चांद-सितारों से परे जा निकली
    आप ज़ंजीर की झंकार सम्हाले हुए हैं ?

    ग़ज़ब !.. इस शेर के माध्यम से अभिव्यक्त हुआ विस्मयादिबोध ’आज’ की ग़ज़ल का पारिभाषिक रूप प्रस्तुत कर रहा है..
    आदरणीय, प्रस्तुति हेतु सादर आभार..

Your Opinion is counted, please express yourself about this post. If not a registered member, only type your name in the space provided below comment box - do not type ur email id or web address.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: