10 टिप्पणियाँ

T-19/18 सब्र का नूर हूँ डरता है अँधेरा मुझसे-अंजुम बाराबंकवी

सब्र का नूर हूँ डरता है अँधेरा मुझसे
मांगने आता है सूरज भी उजाला मुझसे

बदगुमानी के सबब था कोई शिकवा मुझसे
आप ने सब को बताया कभी पूछा मुझसे

अब तो इस दिल को बिखरने का सलीक़ा आ जाय
गिर के टूटा है कई बार ये शीशा मुझसे

सुर्ख़ फूलों की तरह रात महक जायेगी
आप सुनिये तो किसी दिन मिरा क़िस्सा मुझसे

जब खुला राज़ मिरी प्यास की सैराबी का
अपनी पहचान छुपाने लगा दरिया मुझसे

वहशतें आ के मिरे पांव पे गिर जाती थीं
इतना मानूस रहा है कभी सहरा मुझसे

अंजुम बाराबंकवी 08225075719/09424485942

Advertisements

About Lafz Admin

Lafzgroup.com

10 comments on “T-19/18 सब्र का नूर हूँ डरता है अँधेरा मुझसे-अंजुम बाराबंकवी

  1. Aahahahaha, kya kehne janaab, kya tewar hain, aap ki to main facebook se fan hun, kalaam lajawaab hai

  2. बदगुमानी के सबब था कोई शिकवा मुझसे
    आप ने सब को बताया कभी पूछा मुझसे

    अंजुम भाई वाह-वाह क्या ही अच्छी ग़ज़ल निकाली है. अवध का ख़ासा यानी ज़बान की मंझावट देखते ही बनती है. दाद क़ुबूल फ़रमाइये

  3. ANJUM bahi is plateform par aap ka khair maqdam hai…bahut pyaare pyaare ashaar se aap ne nawaaza hai…mumkin hai kisi mehfil meN ham dono ko apni apni tarhi paDhne ka ittefaaq hojaye…daad hi daad haazir hai…

  4. bahut umda ghazal hui hai anjum sahab… aur aakhiri do she’r ghazab dha rahe hain… dher saari daad

  5. अंजुम बाराबंकवी साहब !! अच्छे शेर कहे हैं –
    बदगुमानी के सबब था कोई शिकवा मुझसे
    आप ने सब को बताया कभी पूछा मुझसे
    ये एक युगप्र्वृत्ति है जिसे शेर मे खूब कहा है –
    इस शेर पर भी दाद !!!
    जब खुला राज़ मिरी प्यास की सैराबी का
    अपनी पहचान छुपाने लगा दरिया मुझसे

  6. kya khoob matla hai
    ….
    अब तो इस दिल को बिखरने का सलीक़ा आ जाय
    गिर के टूटा है कई बार ये शीशा मुझस…kya kehne ..wahhh…daad qubule’n

    -Kanha

  7. जब खुला राज़ मिरी प्यास की सैराबी का
    अपनी पहचान छुपाने लगा दरिया मुझसे

    क्या कहने अंजुम साहब….वाह.

  8. sabra ka noor hun…………..abhi to kitni baharen salaam bhejengi……..

Your Opinion is counted, please express yourself about this post. If not a registered member, only type your name in the space provided below comment box - do not type ur email id or web address.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: