8 टिप्पणियाँ

T-18/6 गई शब पा तुझे दिल दीवाना हो गया है-गुरुवन्त सिंह ‘गुरु’

गई शब पा तुझे दिल दीवाना हो गया है
“अन्धेरा तिलमिला कर सवेरा हो गया है”

करेंगे फोन पर ही मिला जो दिल से बातें
हमारे दौर का ये सलीका हो गया है

निकलना चाहता हूँ मैं अब रुस्वाईयों से
कि दिल का छोटा बच्चा बड़ा सा हो गया है

कभी आहट को पाकर चहक उठता है यकसूँ
कभी खामोशियों में रुआंसा हो गया है

मेरी गुरबत पे भाई कोई उम्मीद मत रख
कि मेरा ख़ून-पानी, पसीना हो गया है

गए लोगों ने तुझको नवाजा जेवरों से
मगर कमबख्त दिल अब, कमीना हो गया है

नहीं दिखता कहीं ग़म जो निकले सैर को वो
मेरा घर जब किसी का पता सा हो गया है

खड़ा था जब किनारे कोई तकता नहीं था
गिरा हूँ अपनी ठोकर तमाशा हो गया है

गिरूं कदमों पे क्यों ना ये सानेहा समझकर
हुआ मैं कब किसी का, ‘वो मेरा हो गया है’

न झगड़ा आत्मा से न किस्सा है खुदा का
मगर अब जिस्म जैसे लबादा हो गया है

समझ आऐंगी किसको तेरी सिंपल सी बातें
कि रुतबा आदमी का धुवां सा हो गया है

गुरुवन्त सिंह ‘गुरु’ 09811310099

Advertisements

About Lafz Admin

Lafzgroup.com

8 comments on “T-18/6 गई शब पा तुझे दिल दीवाना हो गया है-गुरुवन्त सिंह ‘गुरु’

  1. Achhi ghazal hui hai Guruwant Singh sah
    ab..

    निकलना चाहता हूँ मैं अब रुस्वाईयों से
    कि दिल का छोटा बच्चा बड़ा सा हो गया ह…wahhh
    daad
    -kanha

  2. बहुत खूब लिखा जनाब

  3. आदरणीय खुर्शीद साहब, आप जैसे उम्दा ख़्य़ालात के मालिक से दाद पाकर अनुगृहीत हूँ।

  4. न झगड़ा आत्मा से न किस्सा है खुदा का
    मगर अब जिस्म जैसे लबादा हो गया है

    आ. गुरु सा. दिल से निकली मासूम आह सा यह शेर नायाब है |निहायत खुबसूरत ग़ज़ल के लिए तहेदिल से दाद कबूल फरमाए
    सादर

  5. What an exellent poem it is mind blowing the writer should be awarded for the same

Your Opinion is counted, please express yourself about this post. If not a registered member, only type your name in the space provided below comment box - do not type ur email id or web address.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: